शनिवार, 20 अक्तूबर 2012

सूर्योदय- 2010





मैं स्टीमर से गंगाजी पार कर रहा था- होली (2010) के बाद घर (बरहरवा) से अररिया लौट रहा था- साहेबगंज से मनिहारी घाट की ओर आ रहा था-  भोर में स्टीमर खुला- थोड़ी देर बाद पौ फटा- और तब गंगाजी से उदित हुए सूर्यदेव...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें